PM, Bangladesh PM Sheikh Hasina, jointly unveil e-plaques for ground-breaking of two projects 

0
527
The Prime Minister, Shri Narendra Modi, the Prime Minister of Bangladesh, Ms. Sheikh Hasina jointly unveiled e-plaques for the ground-breaking ceremony of two projects - India-Bangladesh Friendship Pipeline & Dhaka-Tongi-Joydebpur Railway Project via video conference, in New Delhi on September 18, 2018.
The Prime Minister, Shri Narendra Modi, the Prime Minister of Bangladesh, Ms. Sheikh Hasina jointly unveiled e-plaques for the ground-breaking ceremony of two projects - India-Bangladesh Friendship Pipeline & Dhaka-Tongi-Joydebpur Railway Project via video conference, in New Delhi on September 18, 2018.
PM, Bangladesh PM Sheikh Hasina, jointly unveil e-plaques for ground-breaking of two projects 

Prime Minister Shri Narendra Modi, and the Prime Minister of Bangladesh, Sheikh Hasina, today jointly unveiled e-plaques for the ground-breaking ceremony of two projects, via video conference. External Affairs Minister of India, Ms. Sushma Swaraj, and Minister for Petroleum and Natural Gas, Shri Dharmendra Pradhan, also joined the proceedings.

The projects include: (a) India-Bangladesh Friendship Pipeline (b) Dhaka-Tongi-Joydebpur Railway Project

Speaking on the occasion, the Prime Minister described the cooperation between the two countries as an example for the world. He said that the two countries are neighbours, geographically; and family, emotionally. He said the proposed pipeline will further energize, not just Bangladesh’s economy, but also the relationship between the two countries. He expressed confidence that the proposed railway project will contribute to the process of strengthening national and urban transport in Bangladesh.

 

Following is the full text of the Prime Minister’s address:

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री, Your Excellency शेख हसीना जी,

भारत और बांग्लादेश के मंत्रीगण,

और इस सीधे प्रसारण से जुड़े सभी भारत और बांग्लादेश के साथियों,

नमस्कार।

कुछ ही दिनों के अंतराल में यह हमारी दूसरी video conference है।

हमारे संपर्क की सहजता का कारण technology नहीं है। इसके पीछे भारत-बांग्लादेश संबंधों की अबाध गति और निर्बाध प्रगति है।

भौगोलिक रूप से हम पड़ौसी देश हैं। लेकिन भावनात्मक रूप से हम परिवार हैं। एक दूसरे के सुख-दुःख में साथ देना, एक दूसरे के विकास में हाथ बंटाना, यह हमारे पारिवारिक मूल्यों की ही देन है।

पिछले कुछ वर्षों में हमारे सहयोग ने विश्व को दिखाया है कि यदि दो पड़ौसी देश ठान लें, तो क्या कुछ किया जा सकता है।

चाहे दशकों पुराने सीमा विवाद हों, या विकास सहयोग के projects, हमने सभी विषयों पर अभूतपूर्व प्रगति की है।

इस प्रगति का श्रेय, Your Excellency,  मैं आपके कुशल नेतृत्व को देता हूँ। और इसके लिए आपका हार्दिक अभिनंदन भी करता हूँ।

Friends,

आज जिस भारत-बांग्लादेश मैत्री pipeline पर काम शुरू हुआ है, वह विकास के लिए आपसी सहयोग के महाकाव्य में एक नया अध्याय जोड़ेगी।

किसी भी देश के विकास के लिए ऊर्जा एक आधारभूत आवश्यकता है। और मुझे विश्वास है कि यह pipeline बांग्लादेश के महत्वाकांक्षी विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए संबल बनेगी।

ख़ास तौर पर बांग्लादेश के उत्तरी हिस्से में यह pipeline सस्ते दाम पर ऊर्जा उपलब्ध कराएगी।

बांग्लादेश की अर्थव्यवस्था के साथ, हमारे संबंधों को भी यह pipeline ऊर्जावान बनाएगी।

हालांकि यह pipeline भारत की grant financing से बनाई जा रही है, लेकिन हमारे लिए हर्ष का विषय है कि काम पूरा होने पर इसे बांग्लादेश की सरकार और लोगों को समर्पित कर दिया जाएगा।

इसी प्रकार आज हमने जिस railway project पर काम शुरू किया है, वह न सिर्फ़ ढाका के जन साधारण को और road traffic को राहत देगा, बल्कि freight revenue भी बढ़ाएगा।

मुझे विश्वास है कि इस railway project से बांग्लादेश के राष्ट्रीय और शहरी transport को सुधारने की मुहिम में भी सहायता मिलेगी।

Your Excellency,

आपका vision है कि हमारे बीच 1965 के पहले की connectivity बहाल हो। इससे हमें प्रेरणा मिलती है।

मुझे ख़ुशी है कि ढाका – टोंगी – जॉयदेबपुर जैसे projects हमारी connectivity को 21वीं सदी की ज़रूरतों के मुताबिक़ आकार दे रहे हैं।

     मात्र 10 दिनों में हमने video conference के माध्यम से 5 projects का लोकार्पण किया है। यह गति, यह momentum, आपके मजबूत और कुशल नेतृत्व के बिना संभव नहीं था।

     मुझे विश्वास है कि आने वाले समय में भारत और बांग्लादेश के लोगों के उज्ज्वल भविष्य के लिए हम इसी भावना से काम करते रहेंगे।

Excellency,

     अपनी बात समाप्त करने से पहले मैं आपको 28 सितम्बर पर आपके जन्मदिवस के लिए हार्दिक बधाई देना चाहता हूँ।

भारत में हम सभी लोग आपकी दीर्घायु, स्वास्थ्य और सफ़लता के लिए प्रार्थना करते हैं, और आशा करते हैं कि बांग्लादेश की विकास यात्रा में और भारत-बांग्लादेश मैत्री के लिए आपका मार्गदर्शन बना रहेगा।

धन्यवाद।